उत्तर-प्रदेश क्राइम

कानपुर कांड : विकास दुबे का खजांची जय वाजपेयी गिरफ्तार

कानपुर : विकरू कांड के मुख्य आरोपी विकास के इनकाउंटर के बाद पुलिस उसके करीबी लोगों पर भी शिकंजा कस रही है. पुलिस ने रविवार देर रात विकास के करीबी कारोबारी ब्रह्म नगर के जय वाजपेई को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के अनुसार घटना के कुछ दिन पहले जय ने विकास को कारतूस की थी. पुलिस ने इसके साथ ही मुठभेड़ में मारे जा चुके बउवन के जीजा डब्बू को भी गिरफ्तार कर लिया है. दोनों के खिलाफ आर्म एक्ट की धारा सहित साजिश रचने में भी एफआई आर दर्ज की गई  है. पुलिस सोमवार को उन्हें कोर्ट में पेश करेगी. जय बाजपेई को पुलिस कई दिनों से हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही थी.

कानपुर कांड के बाद पुलिस को जांच में विजयनगर से तीन लावारिस लग्जरी कारें बरामद हुई थी. जांच में यह कारें जय की निकलने के बाद साफ हुआ कि विकास और जय के बीच करीबी रिश्ते हैं. जय वाजपेई विकास दुबे के फंड मैनेजर की तरह काम कर रहा था.

विकास दुबेके साथ  जय जय वाजपेयी (दायें से पहला )

पुलिस ने जय के असलहे और कारतूस की जांच शुरू की. एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि जय के घर से 20 से ज्यादा कारतूस गायब मिले. इस बारे में पूछताछ करने पर वह ठीक से जवाब नहीं दे सका. पुलिस को शक हुआ कि जय वाजपेई ने घटना के कुछ दिन पहले विकास को कारतूस सप्लाई किया था. इसके साथ ही वह ब्याज पर पैसे बांटता था. एसएसपी के अनुसार जय की रिपोर्ट ईडी को सौंपी जाएगी. इसके बाद ईडी उसकी संपत्ति पर कार्यवाई करेगी.

विदेश में करोड़ों की संपत्ति का मालिक है जय

विकास दुबे के फंड मैनेजर की तरह काम करते हुए जय ने कानपुर शहर से लेकर विदेशों तक करोड़ों की बेनामी संपत्ति जुटा ली. इसका पता आयकर विभाग को भी नहीं चला. जय बाजपेई की दुबई व थाईलैंड में भी लगभग 30 करोड़ की संपत्तियां हैं. इसके अलावा कानपुर शहर के ब्रह्म नगर में छह मकान, आर्य नगर के एक होटल में 8 फ्लैट और पनकी में एक कोठी है. इस कीमत लगभग 30 करोड़ बताई जा रही है. पुलिस को विकास के बीच बैठे हैं कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर अपनी और बच्चे की तस्वीर भी पोस्ट की थी.

अधिकारियों और नेताओं से जय के करीबी हैं रिश्ते

गिरफ्तार जय वाजपेई के भाजपा नेताओं और अधिकारियों से करीबी रिश्ते बताया जाते हैं. विकरू कांड के बाद से ही उसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर सरकार के आला अधिकारियों सहित प्रदेश के मंत्री के साथ भी वायरल हुई थी. लोगों का मानना है कि जय वाजपेयी, विकास के लिए ब्लैक मनी को वाइट करता था. इसी वजह से वह रसूख के साथ नेताओं और अधिकारियों से मिलता था.

अधिकारियों के साथ जय वाजपेयी

Leave a Reply