उत्तर-प्रदेश क्राइम राजनीति

पत्रकार की इलाज के दौरान मौत, दो दिन पहले बदमाशों ने मारी थी गोली

दिल्ली/ एनसीआर  : गाजियाबाद में बदमाशों के हमले में घायल पत्रकार विक्रम जोशी ने मंगलवार देर रात इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. दो दिन पहले बदमाशों ने उन्हें रात में अपनी बेटियों के साथ घर जाते समय बुरी तरह पीटने के बाद गोली मार दी थी.

मृतक पत्रकार विक्रम जोशी के भाई अनिकेत के अनुसार रविवार की रात करीब 10:30 बजे उनका भाई अपनी दो बेटियों के साथ बाइक से घर जा रहा था. माता कॉलोनी में अग्रवाल स्वीट्स के पास छोटू पुत्र कमालुद्दीन, आकाश बिहारी और रवि पुत्र मातादीन अपने कुछ साथियों के साथ आये और उन्हें बुरी तरह मारने पीटने लगे. बदमाशों में से एक ने तमंचा निकालकर विक्रम के सिर में गोली मार दी. गोली लगने के बाद पत्रकार विक्रम जोशी लहूलुहान होकर जमीन पर गिर पड़े. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां मंगलवार देर रात में उनकी मौत हो गई.

पूरी घटना मौके पर लगे सीसीटीवी में कैद भी हुई. सीसीटीवी में साफ नजर आ रहा है कि बदमाश किस तरह से मारपीट करते हैं और बाद में पत्रकार को गोली मार देते हैं. कैमरे में वारदात बहुत ही भयानक है.

अनिकेत के अनुसार बदमाशों ने कुछ दिन पहले ही उनके भाई को जान से मारने की धमकी दी थी. पत्रकार विक्रम जोशी ने मामले को पुलिस से भी अवगत कराया था लेकिन पुलिस ने उसे गंभीरता से नहीं लिया. वारदात के पुलिस हरकत में आयी और छोटू, रवि, मोहित, दलवीर, आकाश उर्फ़ लुल्ली, योगेंद्र, अभिषेक हकला, अभिषेक मोटा और साकिर को गिरफ्तार किया है.

प्रियंका और अखिलेश ने सरकार को घेरा

पत्रकार पर जानलेवा हमले को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर सरकार को घेरा. उन्होंने सरकार पर हमला बोलते हुए ट्वीट किया कि एक पत्रकार को इसलिए गोली मर दी गयी क्योंकि उसने भांजी के साथ छेड़छाड़ की तहरीर पुलिस में दी थी. आमजन खुद को कैसे सुरक्षित महसूस करेगा.

वहीं दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए कानून व्यवस्था पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा भाजपा सरकार में कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ाने वाले अपराधी किसके इशारे पर फल फूल रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *